Monday, November 23, 2009

मोटापा कम करने राम बाण!!! बिलकुल फ्री!!! dr.jhatka.

अब देखिये मोटे शरीर के चलते क्या क्या सहन नहीं करना पड़ा ???
आज कल जिम्नेजियम का ज़माना है, तो साथ के दोस्तों ने कहा यार कुछ मोटापा कम करले|
कुछ कसरत वसरत किया कर | बाबा रामदेवजी के योगासन से अपनी विशाल कया को मानवो में मिलती जुलती बना |
मैं बोला : अरे भाई अब इतनी बड़ी काया से कोई योगासन करे तो कैसे करे |
दोस्तों ने सलाह दी डाक्टर का सहारा ले कुछ तो शरीर मेल में आयेगा |
पहुँच गया मैं डाक्टर झटका के पास और अपनी सारी व्यथा बयान करदी |
डाक्टर झटका भी शायद समझ गया की फोकटिया पेशेंट हैं बोला: एक काम करना मैं तुम्हे दवाई नहीं दूंगा |
मैं बोला: तो क्या दोगे डाक्टर साब !!!
डाक्टर झटका साब बोले : देखो तेरी हैशियत नहीं की दवाई खरीद के खाओ इसलिए एक सस्ता सा उपाय है |
मैं खुश होता होअया बोला: तो डाक्टर साब देर क्यों तुरत बाताइए आज से शुरू करता हूँ |
डाक्टर झटका बोला: दो सुखी रोटी सुबह खाना और दो सुखी रोटी शाम को !!!
मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं था इतना सस्ता उपाय मैंने झट से पूछा : अब डाक्टर साब ये भी बता दीजिये की ये दो सुखी रोटी खाना खाने के बाद खानी हैं खाना खाने से पहले!!!

17 comments:

  1. हा हा हा हा मस्त

    ReplyDelete
  2. hahahahahahahaha

    bhayee..... hum to fit faat hain......

    ReplyDelete
  3. ये उड़नतश्तरी जी के लिए फिट फ़ॉर्मूला है ..मेरे लिए नहीं ....हा हा हा

    ReplyDelete
  4. मस्त जी यह तो मजेदार है.

    ReplyDelete
  5. vaise ye roti subah se raat tak har ghante kitni baar khani hai ye bata den ...please ..

    ReplyDelete
  6. दो खाने के पहले और दो खाने के बाद!! हा हा!!

    ReplyDelete
  7. हर तीन तीन घंटे पर खानी है :)
    मजेदार्!

    ReplyDelete
  8. बहुत ही मजेदार !

    ReplyDelete
  9. हा हा हा ! बड़ा मज़ेदार लगा! बहुत बढ़िया लिखा है आपने!

    ReplyDelete
  10. Waah ! Waah ! Aise doctor to ham bhi ban sakte hain...Muraaji hamari pol mat khol dena!

    htp://shamasansmaran.blogspot.com

    http://aajtakyahantak-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    http://baagwaanee-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    http://fiberart-thelightbyalonelypath.blogspot.com

    "Ek sawal tum karo" pe comment ke liye tahe dilse shukriya!Aap hamesha padhte hain, iske liye bhi dhanyawaad!

    ReplyDelete
  11. yeh to achchha hai ki main dubla hoon nahi to ek ki bajaay do khani padti......

    ReplyDelete
  12. BAHUT ACHHA LIKHA HE WAKAI BAHUT MAJEDAR
    KHANE KE BAD YA KHANE PAHLE HA HA HA

    ReplyDelete
  13. हा हा अछा हे दोस्तों ये ब्लॉग भी पढकर देखें http://bharatyogi.blogspot.com/

    ReplyDelete

आपके लिए ही लिखा है आप ने टिपण्णी की धन्यवाद !!!